Navabharat – Hindi News Website
No Comments 5 Views

मौके गंवाने के बाद जीतने का हकदार नहीं था भारत: विराट

जोहानसबर्ग. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे वनडे में मिली हार के बाद माना कि जिस तरह से टीम ने हाथ आये मौकों को गंवाया उसके बाद वह जीत की हकदार नहीं थी. भारत मौजूदा छह मैचों की वनडे सीरीज़ में 3-0 की अजेय बढ़त बना चुका है और शनिवार को हुये मैच में उसके पास जीत के साथ 25 वर्ष बाद सीरीज़ कब्ज़ाने का मौका था लेकिन मेजबान टीम ने इस मैच में पांच विकेट की जीत के साथ स्थिति को बदल दिया है. मैच के बाद विराट ने टीम की अहम मौकों पर गलतियों को इस हार की मुख्य वजह बताया. वर्षा प्रभावित मैच में दक्षिण अफ्रीका को 28 ओवर में 202 रन का लक्ष्य मिला था जिसे उसने 15 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया. अफ्रीकी टीम ने गुलाबी जर्सी में अपने मैच को कभी नहीं हारा है और उसने इसी के साथ अपने अपराजेय क्रम को भी बनाये रखा. कप्तान ने कहा“ आपको हाथ आये मौकों को भुनाना चाहिये था.” मैच में डेविड मिलर को दो बार जीवनदान मिला जबकि उस समय तक भारत की स्थिति नियंत्रित थी. श्रेयस अय्यर और फिर युजवेंद्र चहल ने दो बार मिलर के कैच टपकाये और उन्होंने 39 रन की अहम पारी खेल दी. इसी ओवर में उन्हें नो बॉल से भी राहत मिली. विराट ने कहा“ जब ए बी डीविलयर्स आउट हुये तब हम पूरी तरह से आश्वस्त थे और लगा कि मैच हमारे हाथ में है लेकिन मिलर और हैनरी क्लासेन ने मैच हमारे हाथ से निकाल लिया.” 29 वर्षीय कप्तान ने कहा“ नो बॉल मैच में आपको सबसे ज्यादा प्रभावित करती है और हम अगले मैच में इस गलती को सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे. यह एक तरह से तो ट्वंटी 20 मैच बन गया था. हमने अपने मौकों को नहीं भुनाया और हम जीतने के हकदार नहीं थे.” मैच में बारिश की भी अहम भूमिका रही और दो बार वर्षा से मैच रूका. भारत की पारी में शिखर धवन ने 109 रन की शतकीय पारी खेली लेकिन वह बेकार गयी. वहीं भारतीय स्पिनर चहल और कुलदीप यादव ने इस मैच में 11.3 ओवर में 119 रन की महंगी गेंदबाजी करते हुये विपक्षी टीम को अ ासानी से जीतने में भूमिका निभाई. मैच के बाद दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एडेन मारक्रम ने कहा“ यह अच्छा है कि हमने भारतीय खिलाड़ियों पर दबाव बनाया. इस मैच से उन्हें सही संदेश मिल गया है.”

 

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top