Navabharat – Hindi News Website
No Comments 28 Views

दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए फिर आड ईवन

नयी दिल्ली. दिल्ली में जहरीले प्रदूषण से पार पाने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर आड ईवन का सहारा लिया है और 13 नवम्बर से 17 नवम्बर तक इसे लागू करने की घोषणा की है । राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण की लताड खाने के बाद आज हरकत में आई केजरीवाल सरकार ने इसकी घोषणा की । पांच दिन के दौरान लागू आड ईवन याेजना सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक लागू होगी । दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि योजना को सही और बेहतर ढंग से लागू करने के लिए दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित एजेंसियों से सहयोग मांगा गया है । सरकार इससे पहले पिछले साल दो मर्तबा आड ईवन लागू कर चुकी है । पहली बार एक जनवरी से 15 जनवरी 2016 तक और दूसरी बार 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक इसे लागू किया गया था। श्री गहलोत ने राजधानी में बढते प्रदूषण का दोष आसपास के राज्यों में धान की पराली जलाने पर मढा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने हरियाणा और पंजाब सरकार से बात करने के लिए समय मांगा है । उन्होंने कहा कि आड ईवन के दौरान सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को बेहतर करने के लिए दिल्ली परिवहन निगम से 500 अतिरिक्त बसों का प्रबंधन करने को कहा गया है । प्राधिकरण ने आज सुनवाई के दौरान राजधानी और आसपास के राज्यों में प्रदूषण से लोगों को हो रही दिक्कत को लेकर जमकर लताडा। एनजीटी ने कहा कि प्रदूषण से निपटने के लिए कल जो कदम उठाये गए वह आज होने वाली सुनवाई को देखते हुए लिए गए । हेलिकाप्टर से पानी छिडकाव की व्यवस्था क्यों नहीं की । उसने प्रदूषण की स्थिति को “ शर्मनाक” बताते हुए कहा कि सरकारें प्रदूषण को लेकर कतई गंभीर नहीं है। प्राधिकरण का कहना था कि सरकारें लोगों को स्वच्छ पर्यावरण मुहैया कराने की अपनी जिम्मेदारी से नाकाम रही हैं और लोगों के जीने का अधिकार छीना जा रहा है । आड ईवन के तहत पिछली व्यवस्था के अनुरुप ही वाहनों को छूट होगी । दुपहिया और सीएनजी से चलने वाले वाहन इसके दायरे से बाहर रहेंगे । इस योजना के तहत अंतिम नंबर विषम संख्या वाले अर्थात 1.3.5.7 और नौ नंबर चौपहिया वाहनों को एक दिन और समय संख्या 2.4.6.8 और शून्य को दूसरे दिन सडकों पर उतारने की अनुमति होगी।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top