श्रीनगर में इमारत में छिपे दोनों आतंकवादी ढेर, एक जवान शहीद | Navabharat - Hindi News Website
Navabharat – Hindi News Website
No Comments 13 Views

श्रीनगर में इमारत में छिपे दोनों आतंकवादी ढेर, एक जवान शहीद

श्रीनगर/जम्मू/नयी दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के करन नगर क्षेत्र में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) के बटालियन मुख्यालय के समीप इमारत में छिपे दोनाें आतंकवादियों को सुरक्षा बलों ने आज ढेर कर दिया. यह मुठभेड़ 27 घंटे से अधिक समय तक चली. इस हमले में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया और एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है. शहीद जवान की पहचान बिहार निवासी मुजाहिद खान के रूप में की गई है. पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने ट्वीट करके कहा, “दो आतंकवादियों के शव बरामद किए गये हैं और बड़ी संख्या में हथियार भी बरामद किए गये हैं. शाबाश जवानों, किसी बड़ी क्षति के बिना दोनों आतंकवादियों को मार गिराने के लिए.” पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घनी आबादी वाले क्षेत्र को ध्यान में रखकर अभियान चलाया गया. मुठभेड़ स्थल के पास किसी अन्य इमारत को कोई बड़ी क्षति नहीं पहुंची है. नवनियुक्त पुलिस महानिरीक्षक एस पी पाणि ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस शिविर पर कल तड़के कुछ आतंकवादियों ने हमला करने की कोशिश की थी लेकिन वहां तैनात सतर्क संतरी ने उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दी. इसके बाद आतंकवादी वहां से भाग कर पास की इमारत में छिपे गए थे. उन्होंने बताया कि सुबह सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू कर दिया. वे मकानों की तलाशी ले रहे थे, तभी करीब साढ़े नौ बजे एक निर्माणाधीन इमारत से गोलीबारी शुरू हो गयी. सुरक्षा बलों ने तुरंत इस इमारत को घेर लिया और आतंकवादियों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया. शुरूअाती गोलीबारी में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया और एक पुलिसकर्मी घायल हो गया. पाणि ने बताया कि आतंकवादियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किये गये हैं. उन्होंने बताया कि शुरूआती जांच और हथियारों की पड़ताल करने से आतंकवादियों के लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े होने के संकेत मिले हैं. उन्होंने मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बलों के साथ सहयोग करने के लिए शहर के लोगों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान लोगों को घनी आबादी वाले क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में ले जाया गया था जिसमें लोगों ने पूरा सहयोग किया. पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि आतंकवादियों की पहचान नहीं की जा सकी है. उन्होंने कहा, “आतंकवादियों की पहचान के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. हम फिलहाल यह नहीं बता सकते कि वे स्थानीय नागरिक थे या विदेश.” इस बीच सीआरपीएफ के महानिरीक्षक ने बताया कि शिविर में रह रहे पांच सीआरपीएफ परिवारों और कुछ अन्य लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने कंक्रीट इमारत को तोड़ने के लिए ग्रेनेड लांचर (यूबीजीएल), मोर्टारों और विस्फोट सामग्री का इस्तेमाल किया. आतंकवादी इमारत के भीतर बार-बार जगह बदल रहे थे. कल रात इस अभियान को रोक दिया गया था और आज सुबह सवा छह बजे इस अभियान को फिर शुरू किया गया.

जम्मू फिदायीन हमले में एक अौर जवान का शव बरामद, शहीदों की संख्या छह हुई

जम्मू के सुंजवान सैन्य स्टेशन पर शनिवार सुबह हुए फिदायीन हमले में एक और जवान का शव बरामद होने के बाद शहीद सैनिकों की संख्या बढ़कर छह हो गई है. उस हमले में एक नागरिक की मौत हाे गई थी और दस लोग घायल हुए थे. रक्षा प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि एक और जवान का शव बरामद किया गया और उस फिदायीन हमले में शहीद जवानों की संख्या बढ़कर छह हो गई है. हमले के बाद सैन्य स्टेशन में खोज और साफ सफाई अभियान चलाया जा रहा है और कल शाम इसी दौरान यह शव बरामद हुआ. जवान की पहचान हवलदार राकेश चंद्रा के तौर पर की गई है जो छह महार रेेजीमेंट में था और उत्तराखंड के पौढ़ी गढ़वाल जिले की तहसील पौढ़ी के गांव सांकर का निवासी था. प्रवक्ता ने बताया कि इस हमले में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी समेत छह जवान शहीद हुए हैं और एक नागरिक की माैत हुई है. हमले में 10 लोग भी घायल हुए और सेना ने तीन अातंकवादियों को ढेर कर दिया है. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कल इस सैन्य स्टेशन का दौरा किया और सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने कहा था कि इस हमले को जैश ए माेहम्मद प्रमुख अजहर मसूद की शह पर किया गया है और पाकिस्तान को इसकी कीमत चुकानी होगी.

 

सुरक्षा बल के वेश में पहुंचे संदिग्ध पर गोली
जम्मू के बाहरी क्षेत्र दोमाना में सेना छावनी के समीप आज सुबह सेना के वेश में पहुंचे एक संदिग्ध व्यक्ति पर सुरक्षा बलों ने गोली चलायी. सेना सूत्रों ने कहा, “ड्यूटी पर तैनात संतरी ने छावनी क्षेत्र के समीप सेना के वेश में एक व्यक्ति को संदिग्ध हालत में देखकर गोली चलायी. संदिग्धों की संख्या दो थी. गोली चलने के बाद दोनों फरार हो गए.” उन्होंने कहा, “हमने इलाके की घेराबंदी कर दी और तलाशी अभियान चलाया है. इस छावनी क्षेत्र के चारों ओर रिहायशी इलाका है.” गौरतलब है कि शनिवार सुबह जैश-ए-मोहम्म्द के आतंकवादियों ने सुंजवान सैन्य स्टेशन पर हमला कर दिया था और 30 घंटे तक चले इस अभियान में एक जवान शहीद हाे गया तथा एक नागरिक की मौत हो गयी.

एनआईए करेगी नवीद के भागने के मामले की जांच
केंद्र सरकार ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी नवीद जट्ट के जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के अस्पताल से फरार होने की घटना की जांच का जिम्मा आज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया. एनआईए की एक टीम में इस सिलसिले में कल श्रीनगर जा रही है. एनआईए ने लश्कर के कट्टर आतंकवादी नवीद के श्रीनगर में महाराजा हरि सिंह (एसएमएचएस) अस्पताल से भागने के संबंध में मामला दर्ज किया है. जांच एजेंसी से जुड़े उच्च स्तरीय सूत्रों ने बताया, “एनआईए नवदी को अस्पताल ले जाने के दौरान सुरक्षा संबंधी खामियों या उसे भगाने में अस्पताल के किसी कर्मचारी की मिलीभगत की भी जांच करेगी.” स्थानीय पुलिस ने भी इस सिलसिले में श्रीनगर जिले के करन नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की है. गौरतलब है कि पुलिस गत मंगलवार को नवीद सहित छह आतंकवादियों को उपचार के लिए श्रीनगर के एसएमएचएस लेकर आई थी. इसी दौरान आतंकवादियों ने अस्पताल में धावा बोल दिया और गोलीबारी कर नवीद कोे छुड़ाकर ले भागे. इस घटना में हेड कांस्टेबल मुस्ताक अहमद तथा कांस्टेबल बबर अहमद शहीद हो गए थे.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top