कश्मीर में अवसरवादी गठबंधन की कीमत चुका रहे हैं सैनिक | Navabharat - Hindi News Website
Navabharat – Hindi News Website
No Comments 8 Views

कश्मीर में अवसरवादी गठबंधन की कीमत चुका रहे हैं सैनिक

नयी दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार की कश्मीर को लेकर कोई नीति नहीं है और इसका खामियाजा सैनिकों को भुगतना पड़ रहा है. गांधी ने लगातार हो रहे आतंकवादी हमलों में सैनिकों के शहीद होने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सेना के जवानों को जम्मू कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अवसरवादी राजनीति की कीमत चुकानी पड़ रही है. कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कश्मीर को लेकर सरकार तथा पीडीपी की नीति की आलोचना की और कहा “पीडीपी कहती है कि पाकिस्तान के साथ बातचीत होनी चाहिए जबकि देश की रक्षा मंत्री कहती है ‘पाकिस्तान को कीमत चुकानी पड़ेगी.’ मोदीजी दुविधा में हैं, जबकि हमारे सैनिक सरकार की कश्मीर पर कोई नीति नहीं होने और राज्य में भाजपा-पीडीपी के अवसरवादी गठबंधन के लिए खून बहा रहे हैं.” बाद में कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता मनीष तिवारी ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि पाकिस्तान को लेकर सरकार की कोई नीति नहीं है. उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए ठोस कार्रवाई करने की जरूरत है. तिवारी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी सरकार की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान के साथ बातचीत करने की पेशकश की है. उन्होंने इसे गंभीर मामला बताया और कहा कि भाजपा को बताना चाहिए कि क्या वह पीडीपी नेता के इस बयान से सहमत है. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि आतंकवाद की घटनाओं को रोकने के लिए जम्मू कश्मीर में कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के 44 महीने के कार्यकाल में सीमा पार से प्रायोजित आतंकवाद की 206 बड़ी घटनाएं हुई हैं. पिछले 44 दिन में संघर्ष विराम की 160 बड़ी घटनाएं हुई हैं जबकि मोदी सरकार के 45 माह के शासन में अब तक संघर्ष विराम की 2474 घटनाएं हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि आतंकवाद की लगातार बढ़ रही घटनाएं अत्यंत चिंता का विषय है. पाकिस्तान और कश्मीर को लेकर मोदी सरकार ने अब तक कोई नीति का खुलासा नहीं किया है. उन्होंने कहा कि 45 माह के दौरान सरकार ने अब तक कोई नीति आतंकवाद से निपटने के लिए नहीं बनायी है. उसे बताना चाहिए कि आतंकवाद रोकने के लिए उसके पास कोई नीति है या नहीं और अगर है तो उसे किस वजह से सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है. पाकिस्तान सरकार द्वारा आतंकवादी हाफिज सईद को आतंकवादी घोषित करने संबंधी सवाल पर प्रवक्ता ने कहा कि यह सिर्फ लीपापोती है. पहले भी वह इस तरह की लीपापोती करती रही है और उसने कभी आतंकवादियों खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top