Navabharat – Hindi News Website
No Comments 10 Views

खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में चार अरब डॉलर का निवेश :हरसिमरत

नयी दिल्ली. देश में खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में करीब चार अरब डाॅलर का विदेशी पूंजी निवेश हुआ है जिससे बड़ी मात्रा में कृषि उत्पादों का प्रसंस्करण कर उसका निर्यात किया जा सकेगा. खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने आज यहां कहा कि पिछले दिनों हुए वर्ल्ड फूड इंडिया के दौरान खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में 14 अरब डाॅलर के विदेशी निवेश के करार किये गये थे. इसमें से लगभग चार अरब डाॅलर का निवेश किया गया है. सरकार के सहयोगपूर्ण रवैये के कारण तेजी से विदेशी निवेश हो रहा है. बादल ने कहा कि देश में खाद्य प्रसंस्करण से संबंधित उद्योगों का उत्पादन तेजी से बढ़ रहा है और वर्ष 2016-17 के दौरान प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का निर्यात बढ़कर 13.9 अरब डाॅलर पर पहुंच गया था, जो कुल निर्यात का 11.2 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आय बढाने, रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने तथा कृषि उत्पादों को नष्ट होने से बचाने के लिए खाद्य प्रसंस्करण उद्योग पर विशेष ध्यान दे रही है. बादल ने कहा कि इस क्षेत्र में बदलाव लाने के लिए बजट में एक क्रांतिकारी पहल की गयी है, जिसके तहत खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए विशेष कृषि प्रसंस्करण वित्तीय संस्थान की स्थापना की जायेगी. इससे उद्यमियों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा और उन्हें आसानी से रिण मिल सकेगा. उन्होंने कहा कि सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करना चाहती है और इसे ध्यान में रखते हुए उनके मंत्रालय के इस बार के बजट को दोगुना कर 1,400 करोड़ रुपये का कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि आलू ,प्याज और टमाटर के मूल्य में उतार-चढाव को रोकने के लिए 500 करोड़ रुपये की लागत से आपरेशन ग्रीन योजना शुरु करने की घोषणा की गयी है. खाद्य प्रसंस्करण मंत्री ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में स्थापित किये जा रहे 42 मेगा फूड पार्क में उत्कृष्ट प्रयोगशालाओं का निर्माण किया जायेगा जिससे गुणवत्तापूर्ण उत्पाद उपलब्ध हो सकेगा और निर्यात को बढावा मिल सकेगा.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top