Navabharat – Hindi News Website
No Comments 14 Views

मोर्चों पर तैनात जवानों को मिलेंगी 4 लाख मशीन गन और कारबाइन

नयी दिल्ली. सरकार ने अग्रिम मोर्चों पर दशकों से पुराने हथियारों से लड़ रहे जवानों को अत्याधुनिक हथियारों से लैस करने की दिशा में बड़ा और महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए 7607 करोड़ रूपये की लागत से 41 हजार लाइट मशीन गन और साढे तीन लाख से भी अधिक कारबाइन की खरीद को आज मंजूरी दे दी. रक्षा सूत्रों के अनुसार रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में आज यहां हुई रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में कुल 9 हजार 435 करोड़ रूपये के रक्षा सौदों पर मुहर लगायी गयी. इनमें मशीन गन और कारबाइन के साथ-साथ उच्च क्षमता के रेडियो सेट और तटरक्षक बल के लिए दो प्रदूषण नियंत्रण पोतों की खरीद को भी हरी झंडी दिखायी गई. दरअसल अग्रिम मोर्चों पर तैनात जवान दशकों से पुराने जमाने के हथियारों से दुश्मन के साथ दो-दो हाथ कर रहे थे. विशेष रूप से सीमापार से आने वाले घुसपैठियों तथा आतंकवादियों से लड़ाई में जवानों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही थी. जवानों के अत्याधुनिक व्यक्तिगत हथियारों तथा संचार उपकरणों से लैस होने के बाद उनकी लड़ने की क्षमता बढेगी तथा उनका आत्मविश्वास भी बढेगा. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि सीमाओं पर तैनात जवानों की तात्कालिक जरूरतों को देखते हुए विभिन्न अभियानों के लिए सैनिकों के व्यक्तिगत हथियारों की खरीद फास्ट ट्रैक आधार पर की जायेगी. आज जिन हथियारों की खरीद को मंजूरी दी गयी उनमें से 75 प्रतिशत देश से ही ‘बॉय एंड मेक इंडियन’ श्रेणी के तहत खरीदे जायेंगे. इससे मोदी सरकार की मेक इन इंडिया योजना को भी बढावा मिलेगा.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top