Navabharat – Hindi News Website
No Comments 18 Views

कश्मीर में हालात सामान्य करना सरकार की प्राथमिकता, गुजरात चुनाव के बाद होगा संसद सत्र

कश्मीर में हालात सामान्य करना सरकार की प्राथमिकता-जेटली
नयी दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज कहा कि सरकार बातचीत के जरिये कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के प्रयास कर रही है. जेटली ने मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देने के लिए बुलायी गयी प्रेस कांफ्रेंस में संवाददाताओं के सवाल के जवाब में कहा कि कश्मीर में हालात सामान्य करना सरकार की प्राथमिकता है और वह बातचीत के जरिये इसके लिए प्रयास कर रही है . इसके लिए कब और क्या कदम उठाने हैं ,यह राज्य सरकार और केंद्र के प्रतिनिधि मिलकर तय करेंगे. उनसे यह पूछा गया था कि क्या कश्मीर को लेकर सरकार की नीतियों में बदलाव आया है. उन्होंने कहा कि पहले पथराव आम घटना थी ,आतंकवादी अपनी मनमर्जी से निशाना चुनते थे और हुर्रियत कांफ्रेंस आये दिन बंद का आह्वान करती थी . अब सुरक्षा बल हावी हैं. हुर्रियत के लोग बेनकाब हो चुके हैं और पथराव कराने वालों को इसके लिए लोग नहीं मिल रहे हैं.

 

जेटली का संकेत, गुजरात चुनाव के बाद होगा संसद सत्र

संसद के शीतकालीन सत्र में विलंब को लेकर विपक्ष द्वारा किये जा रहे बवाल के बीच वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज स्पष्ट संकेत दिये कि यह सत्र गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद होगा और यह पूरी तरह से नियमित सत्र होगा. जेटली ने यहां मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि संसद का शीतकालीन सत्र और विधानसभा चुनाव एक साथ नहीं होंगे. उन्होंने कहा, “हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि संसद का यह सत्र नियमित हो लेकिन हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि संसद सत्र और चुनाव की तारीखें एक साथ न पड़ें.” उन्होंने कहा कि वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि लोकतंत्र में चुनाव के समय जनता को संबोधित किया जाता है इसीलिए पहले भी चुनाव के कारण संसद सत्र की तारीखें आगे-पीछे होती रही हैं और सत्र के बीच अवकाश कर उसे दो चरणों में भी संपन्न किया जाता रहा है. एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस चुनाव में भाजपा का काफी कुछ दांव पर लगा हुआ है और हमें जनता के पास प्रचार के लिए जाना है विपक्ष का पता नहीं कि उसे जाना है या नहीं जाना है. गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से संसद के शीतकालीन सत्र के समय को लेकर अटकलें लगायी जा रही थी कि यह गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद या उससे पहले होगा. मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस सरकार पर आरोप लगा रहा है कि वह गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए संसद का सत्र टाल रही है और अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है. जबकि भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि पहले भी संसद के सत्र चुनाव को देखते हुए बाद में कराये जाते रहे हैं. लेकिन अब जेटली के बयान से स्पष्ट हो गया है कि संसद का शीतकालीन सत्र गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद ही होगा.

 

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top