Navabharat – Hindi News Website
No Comments 17 Views

गुजरात चुनाव के कारण GST सुधार को मजबूर हुई सरकार

गुजरात चुनाव के कारण जीएसटी सुधार को मजबूर हुई सरकार : चिदम्बरम
नयी दिल्ली/पटना. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने आज कहा कि गुजरात में हो रहे विधानसभा चुनाव के कारण वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) में सुधार के लिए सरकार विपक्ष तथा विशेषज्ञों की सलाह मानने को तैयार हुई है. असम के गुवाहटी में चल रही जीएसटी परिषद की बैठक के बीच चिदम्बरम ने उम्मीद जतायी कि कांग्रेस सरकारों के वित्त मंत्रियों के दबाव में सरकार जीएसटी में बदलाव करेगी. चिदम्बरम ने ट्वीट किया “गुजरात चुनाव का धन्यवाद जिसके दबाव में सरकार जीएसटी को लेकर विपक्ष तथा विशेषज्ञों की सलाह मानने को तैयार हुई. कांग्रेस की सरकारों वाले राज्यों के वित्त मंत्री इसमें सरकार पर बदलाव के लिए दबाव बनाएंगे.” राज्यसभा में जीएसटी विधेयक पर चर्चा तथा वोटिंग नहीं कराने के लिए मोदी सरकार की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि वहां तो सरकार ने मनमानी कर दी लेकिन अब जीएसटी परिषद तथा लोगों के बीच इस पर चर्चा कराने से वह बच नहीं सकती है.

नोटबंदी और जीएसटी पूरी तरह असफल, भाजपा खुद थपथपा रही पीठ-लालू
राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की सफलता को लेकर केन्द्र सरकार के दावों को नकारते हुए आज कहा कि यह तब कामयाब मानी जाती जब इसका डंका भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नहीं बल्कि देश की जनता बजाती. यादव ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर नोटबंदी और जीएसटी के मुद्दे पर केन्द्र की भाजपा नीत सरकार पर एक बार फिर हमला बोलते हुए लिखा, “नोटबंदी और जीएसटी तब कामयाब मानी जाती जब इसका डंका जनता बजाती भाजपा नहीं. इन्हें ख़ुद की पीठ थपथपानी नहीं पड़ती जनता ख़ुद इनकी पीठ थपथपाती.” इससे पूर्व नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर लालू ने इसे ‘अहंकार संतुष्टि बताया था. उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी की अहंकार संतुष्टि की वजह से देश के 150 बेकसूर लोगों की बलि ली गई. उन्होंने नोटबंदी को पूरी तरह विफल बताते हुए कहा था कि नोटबंदी की वजह से अमीरों का कालाधन सफेद हो गया और गरीब परेशान हुए.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top