Navabharat – Hindi News Website
No Comments 9 Views

अयोध्या मसले पर बातचीत से सहमति बने तो सहयोग को तैयार: योगी

नयी दिल्ली/अयोध्या. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अयोध्या में रामजन्मभूमि के विवाद के समाधान के लिए दोनों पक्षों में अगर कोई सहमति बनती है तो राज्य सरकार इसमें सहयोग के लिए तैयार है. हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप सम्मेलन में कल यहां भाग लेने आये योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का हल निकालने के लिए हिन्दू पक्ष सदैव तैयार है. बातचीत से अलग रहने वाले दूसरे पक्ष के लोग हैं. उन्होंने कहा कि इस मसले पर 30 सितम्बर 2010 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय का निर्णय आने पर उच्चतम न्यायालय में हिन्दू पक्ष नहीं गया था. दूसरे पक्ष ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया. इस मुद्दे पर दोनों पक्ष अगर बातचीत से किसी समाधान पर पहुंचते हैं तो राज्य सरकार उसमें सहयोग के लिए तैयार है. यदि दोनों पक्ष किसी समाधान पर नहीं पहुंचते हैं तो उच्चतम न्यायालय का ही फैसला मानना होगा. उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय इस मसले पर पांच दिसम्बर से लगातार सुनवाई शुरु करेगा. राज्य में कानून का राज है और सरकार किसी को कानून हाथ में लेने नहीं देगी. केन्द्र में नरसिम्हा राव की सरकार के समय भी इस प्रकार के भरोसे के सवाल पर योगी ने कहा कि यदि उस समय फैसला ले लिया गया होता तो 1992 की स्थिति को टाला जा सकता था. छह दिसम्बर 1992 की पृष्ठभूमि पर चर्चा करेंगे तो हमें काफी कुछ बोलना पड़ेगा. अच्छा होगा कि हम भविष्य की सोचें. गौरतलब है कि राममंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद के समाधान के लिए आर्ट आफ लिविंग के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने पिछले दिनों बातचीत का प्रयास किया था. इसी सिलसिले में श्री श्री रविशंकर अयोध्या भी गए थे और वहां मुस्लिम नेताओं तथा अन्य लोगों से मुलाकात के अलावा योगी आदित्यनाथ से भी भेंट की थी.

विवादित ढांचे की बरसी पर अयोध्या में चाकचौबंद सुरक्षा व्यवस्था
उत्तर प्रदेश में अयोध्या में विवादित ढांचा ध्वस्त होने की 25वीं बरसी पर छह दिसम्बर को सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजामों के बीच दोनों समुदाय अलग अलग कार्यक्रम आयोजित करेंगे. विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) इस दिन को शौर्य दिवस के रूप में मनायेगा वहीं मुस्लिम संगठन अपने-अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रख कर यौमे गम दिवस मनायेंगे. वे मस्जिदों में बाबरी मस्जिद के पुन: निर्माण के लिये दुआ करेंगे. विहिप ने अपने मुख्यालय कारसेवकपुरम् में शौर्य दिवस मनाये जाने की घोषणा कर रखी है. इस दौरान स्वाभिमान संकल्प सभा (हिन्दू सम्मेलन) तथा विवादित धर्म स्थल पर भव्य राम मंदिर निर्माण के संकल्प के साथ काशी और मथुरा की मुक्ति का भी संकल्प लिया जायेगा. इस बीच, जिला प्रशासन ने इन कार्यक्रमों को देखते हुए जनपद में निषेधाज्ञा लगा दिया है. अपर जिलाधिकारी नगर विंध्यवासिनी राय ने आज यहाँ बताया कि विवादित ढांचा ध्वस्त होने की पच्चीसवीं बरसी छह दिसम्बर को कुछ संगठनों ने अपने-अपने ढंग से मनाने की घोषणा को देखते हुए पूरे जिले में निषेधाज्ञा अर्थात धारा 144 लगा दिया है जो अग्रिम आदेश तक यह जारी रहेगा. उन्होंने बताया कि छह दिसम्बर को देखते हुए असमाजिक तत्वों द्वारा इन दिनों का दुरुपयोग न होने देने के लिये निषेधाज्ञा लगायी गयी है. अयोध्या और फैजाबाद में उस दिन सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये जा रहे हैं. विश्व हिन्दू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने आज यहाँ “यूनीवार्ता” को बताया कि देश भर में विभिन्न स्थानों पर विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ता हिन्दू समाज से अपील करेंगे कि वे मठ-मंदिरों व घरों में दीपक जलाकर दीपोत्सव मनाने के साथ-साथ अपने घर में पूजा-पाठ करके अयोध्या में विवादित श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिये संकल्प लें जिससे मंदिर का निर्माण हो सके. शर्मा ने बताया कि शौर्य दिवस में स्वाभिमान संकल्प सभा के अवसर पर श्रीरामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष एवं मणिरामदास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास, जगद्गुरू पुरुषोत्तमाचार्य, महंत कौशल किशोर दास, श्रीरामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य एवं पूर्व सांसद डा. राम विलास दास वेदान्ती, महंत सियाकिशोरी शरण सहित विश्व हिन्दू परिषद के शीर्ष नेता व संत-धर्माचार्य भाग लेंगे. दूसरी ओर, छह दिसम्बर को मुस्लिम संगठनों के लोग अपने-अपने दुकान बंद रखकर यौमे गम दिवस मनायेंगे तथा बाबरी मस्जिद के पुन: निर्माण कराने के लिये दुआ करेंगे. वहीं मुस्लिम लीग के प्रदेश अध्यक्ष डा. नजमुल हसन गनी ने बताया कि छह दिसम्बर को मुस्लिम लीग काला दिवस के रूप में मनायेगी. उसी दिन पुराने एसएसपी कार्यालय के सामने पार्क में धरना-प्रदर्शन करके दुबारा बाबरी मस्जिद बनाने की मांग करेगी. साथ ही साथ विवादित श्रीरामजन्मभूमि/बाबरी मस्जिद को सेना को सौंपने की भी मांग करेगी. इण्डियन मुस्लिम लीग समाज के जिलाध्यक्ष हाजी मोहम्मद इस्माईल अंसारी ने कहा कि बाबरी मस्जिद की दुबारा तामील के लिये तथा मुल्क में अमन-शांति के लिये अल्लाह पाक से दुआएं मांगी जायेंगी.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top