Navabharat – Hindi News Website
No Comments 20 Views

अायुष के डाक्टर नहीं लेंगे एलोपैथ डाक्टरों का स्थान -नाइक

नयी दिल्ली. आयुष राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाइक ने आज कहा कि फिलहाल वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों (आयुष) के डाक्टर ऐलोपैथ डाक्टरों का स्थान नहीं ले सकते हैं. नाइक ने लोकसभा में पूरक प्रश्नों के जवाब में कहा कि सरकार ने छत्तीसगढ़ समेत देश के किसी हिस्से में वैकल्पिक चिकित्सा के लिए तीन वर्ष के मेडिकल पाठ्यक्रम को मान्यता नहीं दी है. उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने वैकल्पिक चिकित्सा में तीन वर्ष का पाठ्यक्रम शुरू किया था लेकिन इसे केंद्र सरकार से मान्यता नहीं है. नाइक ने कहा कि इस समय देश में अायुष के 27000 डाक्टर हैं और आयुष को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में समाहित किया जाएगा. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आयुष के डाक्टरों से जुड़ा विधेयक संसद की स्थायी समिति के पास लंबित है. नाइक ने कहा कि आयुर्वेद की दवाओं की बढ़ती मांग को देखते हुए किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें उन्हें औषधीय वनस्पतियां उगाने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं और राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड इसमें अहम भूमिका निभा रहा है. उन्होंने कृषि मंत्रालय के साथ मिलकर औषधीय वनस्पतियों की पैदावार और बढ़ाने का आश्वासन दिया. नाइक ने कहा कि आयुष की दवाओं की गलत लेबलिंग करने वालों तथा गुमराह करने वाले विज्ञापनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सख्त प्रावधान हैं. इससे पहले सदस्यों ने कहा कि देश में डाक्टरों की कमी चिंता का विषय है लेकिन वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियां एलोपैथ का स्थान नहीं ले सकतीं हैं. वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियां रोकथाम में कारगर हो सकती हैं. लोगों के स्वास्थ्य को लेकर शार्ट कर्ट नहीं अपनाया जाना चाहिए.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top