Navabharat – Hindi News Website
No Comments 11 Views

25 जनवरी को रिलीज होगी ‘पद्मावत’, प्रदर्शन के पक्ष में कांग्रेस, विरोध में राजस्थान सरकार

बहुप्रतीक्षित फिल्म पद्मावती 25 जनवरी को होगी रिलीज
नयी दिल्ली/जयपुर. विवादों में घिरी बहुप्रतीक्षित फिल्म पद्मावती गणतंत्र की दिवस की पूर्व संध्या पर ‘पद्मावत’ नाम से दुनिया भर के थियेटरों में रिलीज होगी. सूत्रों के अनुसार केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने इस फिल्म को पिछले हफ्ते कुछ शर्ताें के साथ मंजूरी दी थी और इसे सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल गया है. फिल्म निर्माताओं ने इसे 25 जनवरी को रिलीज करने का फैसला किया है. संजय लीला भंसाली के निर्देशन वाली इस फिल्म में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण मुख्य भूमिका में हैं. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर रिलीज होने के कारण पद्मावती को लगातार तीन अवकाश दिवस मिल जाएंगे जिससे इसमें लगे मोटे पैसे की वसूली होने की संभावना है. यह फिल्म 200 करोड़ रुपये से ज्यादा बजट की है. हालांकि इसी के आसपास अक्षय कुमार की ‘पैडमैन’ और नीरज पांडे की ‘अय्यारी’ भी रिलीज होनी है. उल्लेखनीय है कि राजपूत समुदाय के लोगों द्वारा फिल्म का विरोध किये जाने के कारण ‘पद्मावती’ विवादों में घिर गयी थी. समुदाय का कहना था कि फिल्म में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है . भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने फिल्म का नाम बदलकर ‘पद्मावत’ करने तथा ‘घूमर’ नृत्य में बदलाव समेत कुछ परिवर्तनों के साथ फिल्म को मंजूरी दी थी .

राजस्थान में प्रदर्शित नहीं होगी पद्मावत-वसुंधरा
राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि प्रदेश की जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए राज्य में पद्मावत फिल्म का प्रदर्शन नहीं किया जाएगा, राजे ने आज इस सम्बन्ध में गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया को निर्देश भी दिए. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि रानी पद्मिनी का बलिदान प्रदेश के मान-सम्मान और गौरव से जुड़ा हुआ है, इसलिए पद्मिनी सिर्फ इतिहास का एक अध्यायभर नहीं, बल्कि हमारा स्वाभिमान हैं. उनकी मर्यादा को किसी भी सूरत में ठेस नहीं पहुंचने दी जायेगी. उल्लेखनीय है कि फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का नाम बदलकर पद्मावत करने सहित पांच बदलावों के साथ इसे देश में पच्चीस जनवरी को प्रदर्शित करने की खबरों के बाद राज्य में फिर से इसका विरोध होने लगा था.

फिल्म ‘पद्मावत’ प्रदर्शित होनी चाहिए : कांग्रेस
कांग्रेस ने आज कहा कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने चर्चित फिल्म ‘पद्मावत’ काे मंजूरी दे दी है और इसका अब देशभर में प्रदर्शन होना चाहिए. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने यहां पार्टी की नियमित प्रेस ब्रीफिंग में संवाददाताओं के सवालों पर कहा कि बोर्ड ने फिल्म के प्रदर्शन को हरी झंडी दे दी है और अब इसका पूरे देश में प्रदर्शन होना चाहिए. कानून-व्यवस्था का जिम्मा राज्यों का होता है और उन्हें (राज्य सरकारों को) सख्ती से इसका पालन करना चाहिए. खबरों के अनुसार सीबीएफसी ने कुछ शर्ताें के साथ पिछले हफ्ते इस फिल्म के रिलीज को मंजूरी दी थी. संजय लीला भंसाली के निर्देशन वाली इस फिल्म में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण मुख्य भूमिका में हैं. इस फिल्म को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 25 जनवरी को रिलीज किया जायेगा.

पद्मावत फिल्म के प्रसारण पर लगानी चाहिए रोक-खाचरियावास
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि भारतीय इतिहास से छेड़छाड़ कर व्यापार करने के उद्देश्य से बनाई गई पद्मावती फिल्म का नाम बदलकर पद्मावत करके फिल्म को प्रसारित करने की कोशिश पर राेक लगाई जानी चाहिए. खाचरियावास ने आज यहां एक बयान में कहा कि पद्मावती का इतिहास भारतीय महिला के शौर्य, वीरता और बलिदान का प्रतीक है, जिससे पूरी दुनिया में भारतीय महिला को बड़े सम्मान से देखा जाता है. ऐसे में राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार काे केन्द्र सरकार से बात कर इतिहास को बदनाम करने वाली इस फिल्म को प्रसारित करने से रोकना चाहिए. उन्होंने कहा कि पद्मावत फिल्म को देश में कहीं भी प्रसारित नहीं किया जाना चाहिए. यह देश एवं प्रदेश के लोगों की भावनाओं से जुड़ा हुआ मामला है. सेंसर बोर्ड द्वारा बनाई गई समीक्षा कमेटी ने भी पद्मावत फिल्म के प्रसारण पर रोक लगाने की सिफारिश की है, इसके बावजूद यदि सेंसर बोर्ड फिल्म को प्रसारित करने की अनुमति देता है तो केन्द्र की भाजपा सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वह देश में कहीं भी इस फिल्म को प्रसारित नहीं होने दिया जाए.

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top